जागो हिन्दू, आवाज उठाओ… सच्चाई जानो और संत बचाओ…

Spread the love
Image may contain: 3 people, text

जाने कहाँ #दग़ा दे-दे, जाने किसे #सज़ा दे-दे..साथ न दे #कमज़ोरों का, ये साथी है #चोरों का…ये #इन्साफ़ नहीं करता, किसी को #माफ़ नहीं करता#बातों और #दलीलों का, ये #खेल है #वक़ीलों का…#माफ़ जिसे हर #ख़ून है, वही तो है #अन्धा_क़ानून मेरे #देश का…👉🏻#दोगली_मीडिया और #दोगले_कानून के चलते देश में अन्याय नहीं तो क्या न्याय मिलेगा..?1》दिल्ली के इमाम बुखारी पर देशद्रोह और बलात्कार जैसे संगीन आरोप हैं और 65 गैर जमानती वारंट निकले हैं पर उनकी गिरफ्तारी नहीं की जा रही है और इसका कारण बताया जा रहा है कि देश में दंगा हो जाएगा..वाह रे दोगलो…1》संजय दत्त को आतंकवादियों के हथियार घर में रखने के जुर्म में सजा हुई फिर भी बार-बार पेरोल मिलती रही और जल्दी जेल से बाहर कर दिया…1》पत्रकार तरुण तेजपाल ने एक लड़की का बलात्कार किया पुख्ता सबूत होते हुए भी बाहर घूम रहा है…1》ईसाई धर्मगुरु बिशप फ्रैंको पर 13 बार बलात्कार का आरोप लगा, नन चीख-चीख के कह रही है फिर भी सबूत होते हुए भी उसे जमानत मिल गई…1》आतंकवादी अफजल को फांसी की सजा हुई, वो आतंकवादी है ये जानते हुए भी उसकी सजा रोकने के लिए आधी रात को न्यायालय खुलता है..वाह रे दोगलो…👉🏻 अब एक नज़र डालते हैं देशभक्तों व हिन्दू हित चाहनेवालो की हालत पर..2》साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को 9 साल जैल..2》डीजी वंजारा जी को 8 साल जैल..2》स्वामी असीमानंद को 8 साल जैल..2》कर्नल पुरोहित को 7 साल..बिना सबूत जेल में प्रताड़ित किया गया और उड़ीसा के स्वामी लक्ष्मणानंद की तो हत्या तक कर दी गई…2》अभी वर्तमान में 85 वर्षीय निर्दोष हिंदू संत आसाराम बापू को 6 साल के कारावास में 1 दिन भी जमानत नहीं दी गई क्योंकि वे 50 साल से सतत हिन्दू संस्कृति और देश हित कार्यों में लगे थे…जिस व्यक्ति को मेडिकल रिपोर्ट में क्लीन चिट मिल चुकी हो वो बलात्कारी कैसे..?सारे सबूत जिनके पक्ष में हो वो अपराधी कैसै..?वाह रे दोगले कानून..2》 हिन्दू संत श्री नारायण साईं पर 12 साल पुराना रेप केस लगा हुआ है । उनको बिना सबूत 4 साल से सूरत (गुजरात) जेल में रखा गया है, अभी तक एक भी सबूत उनके खिलाफ नही मिला है, जबकि लड़की ने कैसे षड्यंत्र रचा है उसके कई सबूत सामने आए हैं, लेकिन फिर भी उनको जमानत तक नही दी जा रही है, जबकि पत्रकार तरुण तेजपाल पर रेप केस सिद्ध हो गया है फिर भी आराम से बाहर गुम रहा है, इससे ज्यादा न्यायालय में भ्रष्टाचार का क्या सबूत चाहिए..?आज दोषी बहार घुम रहे हैं और निर्दोष जैल में, आखिर इन अपराधियों को कौन बढ़ावा दे रहा है..?इस अपराधियों को खुली छूट देने के पीछे सरकार, न्यायालय और मीडिया का हाथ ही आएगा, क्योंकि सरकार और न्यायालय का काम है उनको जेल भेजना और मीडिया का काम है इनके खिलाफ बोलना, लेकिन कलयुग का प्रभाव देखिए यहां सब इसके विपरीत हो रहा है…आखिर सही लोगों को, सच्चे संतो को न्याय कौन देगा..?संत ही नहीं रहेंगे तो संस्कार कैसे रहेंगे..?धर्म कैसे बचाओगे हिन्दू जब कोई धर्म के मार्ग पर ले जाने वाला ही नहीं रहेगा…?कभी सोचा है..?

Leave a Reply

Your email address will not be published